NewsDesk24 का  शुभारंभ

बीबीसी के पूर्व पत्रकार और  पूर्वोत्तर भारत पर तीन प्रशंसित पुस्तकों के लेखक सुबीर भौमिक  ने मंगलवार को गुवाहाटी के विवेकानंद केंद्र के प्रमुख हाल में आयोजित एक कार्यक्रम में न्यूजडेस्क 24 की वेबसाइट का आधिकारिक रूप से शुभांरभ किया. इस मौके पर  भौमिक के साथ कार्यक्रम  में मौजूद वरिष्ठ पत्रकार एवं दैनिक असम के पूर्व संपादक ज्योति प्रसाद  सैकिया ने संयुक्त रूप से बटन दबाकर न्यूजडेस्क 24 को शुरू किया.

पारंपरिक मीडिया की मौजूदगी के बीच आनलाइन की खबरों में पाठकों की बढ़ती रूची को देखते हुए असम में न्यूजडेस्क24 आनलाइन न्यूज को लांच किया गया हैं. न्यूजडेस्क24 हिंदी में होने के साथ ही इसमें एक असमिया सेक्शन रखा गया है ताकि असम के लोग स्थानीय भाषा में देश-दुनिया की महत्वपूर्ण खबरें आसानी से पढ़ सके. इसके अलावा प्रत्येक रविवार को रेडियो संडे के नाम से आनलाइन रेडिया पर विशेष कार्यक्रम पस्तुत किया जाएगा. आप से जुड़े उन तमाम मुद्दों पर  बात की जाएगी जिसकी किसी न किसी कारणवश अनदेखी होती रही हैं.

वरिष्ठ पत्रकार और राजनीतिक विश्लेषक सुबीर भौमिक ने कहा कि डिजिटल मीडिया अब पूरी तरह आ चुका है और अब जरूरत प्रिंट मीडिया को संभलने की है. भौमिक ने कहा कि पूर्वोत्तर राज्यों के लिए डिजिटल मीडिया एक बिल्कुल सही माध्यम है. इसके विस्तार में  जाते हुए उन्होंने बताया कि किस तरह पूर्वोत्तर राज्यों के दूरदराज के इलाकों में एक ही दिन में अखबार पहुंचाना एक टेढ़ी खीर है और कई बार इसमें काफी पैसा भी लगता है. उदाहरण के लिए गुवाहाटी में दिल्ली से छपकर आने वाले अखबारों की कीमत काफी अधिक होती है. लेकिन डिजिटल मीडिया में यह समस्या नहीं है. इसी तरह पूर्वोत्तर जैसे विविधता पूर्ण इलाके में डिजिटल मीडिया अपनी विविधता के कारण काफी सफल हो सकता है.
क्योंकि कई बार पाठक अपनी मातृभाषा को छोड़कर अन्य भाषा पढ़ नहीं पाता लेकिन वह हिंदी या अंग्रेजी में के ऑडियो या वीडियो क्लिप को सुन-देखकर अच्छी तरह समझ जाता है. सुदूर गांव का एक संवाददाता हो सकता है ठीक से लिख न पाए लेकिन डिजिटल मीडिया में वह फिर भी अपनी बात को अभिव्यक्ति दे सकता है.
उन्होंने कहा कि यह धारणा गलत है कि डिजिटल मीडिया को सफलता के लिए चटपटी और हल्की खबरें परोसना आवश्यक है. उन्होंने कहा कि यह सही नहीं है. उन्होंने उदाहरण देकर कहा कि प्रियंका चोपड़ा पर समाचार नहीं होना चाहिए ऐसी बात नहीं है. लेकिन समाचार यह होना चाहिए कि असम की सुंदर और प्रतिभावान अभिनेत्रियों और मॉडलों के होते हुए किन राजनीतिक कारणों से प्रियंका चोपड़ा को असम पर्यटन का ब्रांड एंबैसडर बनाया गया. किन सत्ताधीशों को खुश करने के लिए असम सरकार ने ऐसा  किया.
उन्होंने कहा कि डिजिटल मीडिया की भाषा बिल्कुल सरल और पैराग्राफ छोटे-छोटे होने चाहिए क्योंकि यह ध्यान में रखा जाना चाहिए किन डिवाइस पर कैसी स्थितियों में ंपाठक इन्हें पढ़ता है.
फिर खबरें ऐसी हों जिनसे पाठक अपने आपको जोड़ सके. साथ ही किसी भी हालत में पत्रकारिता के मूल्यों और निष्पक्षता को बनाए रखा जाना चाहिए.
इसी अवसर पर वरिष्ठ पत्रकार और पूर्व सरकारी अधिकारी ज्योति प्रसाद सइकिया ने भी अपने विचार रखते हुए कहा कि टेक्नोलॉजी सिर्फ एक साधन है. असली चीज है आप पाठक को क्या दे रहे हैं, क्या लिख रहे हैं. अंत में इसी चीज का महत्व रह जाता है.
उन्होंने अपने लंबे पत्रकारिता जीवन के संस्मरण याद करते हुए श्रोताओं को बताया कि किस तरह कई बार दो पंक्तियां एक साथ जुड़कर सुर्खी का अर्थ से अनर्थ कर देती थी.  इसका उदाहरण उन्होंने दिया कि यंग गर्ल मर्डर्ड और बाय ऑवर स्टाफ रिपोर्टर – ये दोनों पंक्तियां आपस में एक पंक्ति बनकर यंग गर्ल मर्डर्ड बाय ऑवर स्टाफ रिपोर्टर हो गया था. श्रोता इसे सुनकर हंसते-हंसते लोटपोट हो गए.

पिछले कुछ सालों में मीडिया की दुनिया में काफी कुछ बदलाव आया हैं. आज का पाठक किसी खबर के लिए इंतजार नहीं करता बल्कि अपनी आवश्कता के अनुसार उसे तुरंत सर्च करता है और जानकारी हासिल करता हैं. ज़्यादातर लोग अपने मोबाइल पर इंटरनेट के जरिए खबरों को पढ़ रहें हैं. यह काफी आसान तरीका बन गया हैं. लेकिन तेजी से खबरों को हासिल करने के साथ ही इसमें आने वाली “फेक न्यूज़” ने चुनौतियां खड़ी कर दी हैं. चूकि वेबदुनिया का सीधा संपर्क सोशल मीडिया से हैं और सोशल मीडिया पर झूठी ख़बरों का चलन काफी  हैं. इन सबसे बचकर पूरी जिम्मेदारी के साथ सही खबर आपतक पहुंचाना न्यूजडेस्क24 का प्रमुख काम होगा.

कार्यक्रम में मौजूद गुवाहाटी हाई कोर्ट के वरिष्ठ अधिवक्ता भास्कर देव कुंवर ने डिजिटल  मीडिया की चुनौतियों और ‘फेक न्यूज ‘ पर अपने अनुभव साझा किए. उन्होंने कहा कि डिजिटल माध्यम का उपयोग कर तेजी के साथ खबरों को अपने सब्सक्राइबर  तक पहुंचाया जा सकता हैं.  सोशल मीडिया का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि अब लोग किसी भी खबर पर तत्काल अपडेट होना चाहते है और डिजिटल मीडिया को उसी मांग पर काम करना होगा.

न्यूजडेस्क24 साइट के पहले पन्ने पर असम तथा पूर्वोत्तर राज्यों के सभी प्रमुख समाचार को काफी अहमियत के साथ जगह दी जाएगी. इसके अलावा विश्लेषण, बड़ी ख़बरों और फ़ीचरों का प्रकाशन किया जाएगा. फोटो कहानी के लिए अलग से जगह बनाई गई है. वहीं वीडियों स्टोरी के जरिए काफी रोचक रिपोर्टें दिखाई जाएगी.

खेल, मनोरंजन, टैकनोलजी, विज्ञान, कारोबार, मल्टीमीडिया, एक नजर , न्यूजडेस्क24 स्पेशल और खास लोगों के साक्षात्कार उपलब्ध रहेंगे.

इंटरनेट क्रांति ने हमें यह अवसर दिया है, जिसकी मदद से हम ताज़ा समाचार आपतक लेकर आएंगें.

न्यूज़ डेस्क मीडिया सर्विसेज के तत्वावधान में इस पूरी परियोजना का काम किया गया हैं. इसके लिए धन की व्यवस्था करने का एक मात्र रास्ता होगा पाठकों की मदद और तभी न्यूजडेस्क24 को किसी भी प्रकार के दबाव से बाहर रखा जा सकता हैं.

कार्यक्रम में राज्य सरकार के सूचना और जनसंपर्क निदेशालय के निदेशक राजीव प्रकाश बरूआ, असम वित्त निगम के चेयरमैन विजय कुमार गुप्ता समेत कई वरिष्ठ पत्रकार और गणमान्य लोग उपस्थित थे.

शेयर करें
  • 50
    Shares

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here